छोटी लड़की और लाल परी की कहानी

chouti ladki aur lal pari ki kahani
छोटी लड़की और लाल परी की कहानी


छोटी लड़की और लाल परी की कहानी

 

बहुत समय पहले की बात है एक गाँव में एक छोटी लड़की रहती थी छोटी लड़की को बचपन में उसकी दादी ने खूब सारी लाल परी की कहानियां सुनाई थी इसलिए छोटी लड़की लाल परी को बहुत पसंद करती थी और छोटी लड़की हमेशा लाल कपडे पहनती थी और लाल परी जैसी दिखना चाहती थी ।

 

एक दिन छोटी लड़की को अपनी दादी से मिलने का दिल हुआ छोटी लड़की की दादी जंगल के उस पार एक गाँव में रहती थी  छोटी लड़की ने अपनी माँ से कहा की वो अपनी दादी से मिलना चाहती है ।

 

इस पर छोटी लड़की की माँ ने कहा की रास्ते में बहुत घना जंगल है और जंगल में खतरनाक जंगली जानवर और चोर लुटेरे रहते है इसलिए तुम्हारा दादी के घर अकेले जाना तुम्हारे लिए सुरक्षित नहीं है ।

 

लाल परी की कहानी

 

छोटी लड़की नहीं मानी और दादी के पास जाने की जिद करने लगी इस पर उसकी माँ ने उसे दादी के घर जाने की इजाजत दे दी और छोटी लड़की को समझाया की रास्ते में किसी भी अनजान व्यक्ति से बात मत करना और जंगल जानवरों से भी सुरक्षित रहना ।

 

छोटी लड़की दादी घर जाने की लिए रवाना हो गयी । रास्ते में उसे एक चोर मिला उसने छोटी लड़की से बड़ी ही मीठी मीठी बाते की और उस छोटी लड़की को अपना दोस्त बना लिया और उस से बातों बातों में उसकी दादी के बारे में सारी जानकारी प्राप्त कर ली ।

 

छोटी लड़की ने चोर को दादी के घर पर रखे सामान और खजाने के बारे में बता दिया । अब चोर उस छोटी लड़की को मारना चाहता था । इसलिए चोर में एक डंडा लिया और छोटी लड़की को मारने के लिए उसके पास आया । छोटी लड़की डर के मारे चिल्ला रही थी । लेकिन जंगल में कोई नहीं था ।

 

लाल परी की कहानी

 

चोर लड़की को मारता उतने में वंहा एक लाल कपडे पहने हुए एक परी आ गयी और उसने अपने जादू से चोर को खूब पिटा अंतत चोर डर कर  वंहा से भाग गया ।

 

छोटी लड़की लाल परी को देख कर बहुत खुश हुई ।  लाल परी ने छोटी लड़की को बताया की तुम्हे दादी घर अकेले नहीं आना चाहिए था और अपने माता पिता की बात माननी चाहिए थी ।

 

लाल परी ने अपने जादू से छोटी लड़की को एक उड़ने वाली लोमड़ी पर बैठाया और जादुई लोमड़ी ने छोटी लड़की को उसके दादी के घर छोड दिया ।

 

लेकिन छोटी लड़की जैसे ही अपने दादी के घर घुसी उसने देखा की वही चोर उसकी दादी के घर घुसा हुआ है और दादी को एक कुर्सी पर बांध कर सारा सामान इकटठा कर रहा है ।

 

चोर ने जल्दी से उस छोटी लड़की को भी पकड कर दूसरी कुर्सी पर बांध दिया ।  छोटी लड़की मदद के लिए चिल्लाने लगी और जोर जोर से रोने लगी ।

 

छोटी लड़की की रोने की आवाज सुन फिर लाल परी वंहा प्रकट हुई और उस चोर को अपने जादू से बाँध दिया और छोटी लड़की और उसकी दादी को कुर्सी से खोल दिया ।

 

लाल परी की कहानी

 

छोटी लड़की की दादी ने जल्दी से पुलिस को बुलाया और उस पुलिस ने चोर को पकड लिया और अपने साथ ले गयी ।

 

उसके बाद लाल परी और दादी ने छोटी लड़की को समझाया की हमेशा अपने माता पिता का कहना मानो और कभी भी किसी अनजान व्यक्ति को अपने घर परिवार के बारे में जानकारी मत दो और अनजान व्यक्ति से कभी भी दोस्ती मत करो ।

 

लाल परी और दादी की बात सुनकर छोटी लड़की ने उनसे माफ़ी मांगी और वादा किया की अब वह हमेशा अपने माता पिता का कहना मानेगी और कभी भी किसी अनजान व्यक्ति को अपने घर परिवार के बारे में कोई जानकारी नहीं देगी और अनजान व्यक्ति से कभी भी दोस्ती नहीं करेगी ।

 

इतने में लाल परी गायब हो गयी अब छोटी लड़की और उसकी दादी ने मिलकर खाना खाया और रात को छोटी लड़की की दादी ने छोटी लड़की को खूब सारी लाल परी की कहानियां सुनाई ।

 

शिक्षा :- हमेशा अपने माता पिता का कहना मानो और कभी भी किसी अनजान व्यक्ति को अपने घर परिवार के बारे में जानकारी मत दो और अनजान व्यक्ति से कभी भी दोस्ती मत करो ।

 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ