गरीब और अमीर की कहानी | गरीब vs अमीर

garib aur amir ki kahani garib vs amir
गरीब और अमीर की कहानी

 

गरीब और अमीर की कहानी | गरीब vs अमीर

 

एक बार एक शहर में अमीर आदमी रहता था उसका एक बेटा था उसका बेटा एक बहुत बड़े घर, शानदार कारों और खिलौनों से भरे कमरे जेसे आरामदायक जीवन के साथ बड़ा हुआ था और आये दिन अपने पिता से फालतू खर्च करने के लिए पैसे मांगता और हमेशा ईश्वर से शिकायत करता की उनको ईश्वर ने कुछ नहीं दिया है

 

अमीर आदमी अपने बेटे को लेकर बहुत चिंतित था क्योंकि इस आरामदायक जीवन ने उसे आलसी और कामचोर बना दिया था अब वो नहीं जानता था की मेहनत क्या होती है

 

अमीर आदमी जब भी अपने बेटे को काम या मेहनत करने के लिए कहता तो उसका बेटा उसे कहता की पापा हम गरीब नहीं अमीर है और काम और मेहनत गरीब लोग करते है और मुझे गरीबों से नफरत है

 

अमीर आदमी अपने बेटे को समझाने की बहुत कोशिश करता और अपने बेटे को कहता की गरीब आदमी ही मेहनत करके अमीर आदमी बनता है और गरीब अमीर कुछ नहीं होता है और जंहा तक खुशियों की बात है ईश्वर ने गरीब को ज्यादा खुशियाँ दी है उसे ज्यादा मजबूत बनाया है लेकिन उसका बेटा अपने पिता की इन बातों को मानने के लिए तेयार ही नहीं था

 

इसलिए अमीर आदमी ने अपने बेटे को यह सब सिखाने के लिए और उसका भविष्य बचाने के लिए उसे एक गाँव में लेकर गया ताकि वह गरीबों का जीवन भी देख सके ।

 

अमीर आदमी अपने बेटे को पहले एक ऐसे गरीब परिवार के पास ले गया जो बिना रोशनी, पानी या वॉशरूम के एक छोटे से घर में रहता था।

 

अमीर आदमी के बेटे ने गरीब परिवार से पूछा "आप ऐसी परिस्थितियों में कैसे रह सकते हैं ?"

 

गरीब और अमीर की कहानी

 

उस गरीब परिवार ने कहा "हमारे पास पैसा नहीं है लेकिन हम अमीर हैं क्योंकि हमारे पास भगवान का आशीर्वाद है"

 

उसके बाद अमीर आदमी अपने बेटे को गाँव की नदी दिखाने के लिए लेकर गया। अमीर आदमी के लड़के ने देखा की उसे अपने घर में पीने के लिए साफ पानी और नहाने और तैरने के लिए 24 घंटे नल का साफ़ पानी मिलता है और यंहा लोग अपनी सफाई, धुलाई और पीने का पानी आदि सभी कामों के लिए एक नदी से ही काम चलाते है।

 

थोड़ी ही देर में रात हो गई और वे रात बिताने के लिए एक छोटे से घर में पहुंचे। लड़का बिना बिस्तर और पंखे के सो नहीं सकता था

 

अमीर आदमी और उसका लड़का बाहर से आने वाली अजीब आवाज़ों से परेशान थे। लड़के ने उठ कर शोर को सुना तो उसने पाया कि लड़कों का एक समूह खुशी से आग के चारों और खेल रहा है। अमीर आदमी का बेटा उनको देखकर बहुत मोहित हुआ। उसने सोचा की उसके पास दुनिया का हर खिलौना है लेकिन उन लड़कों के पास जो ख़ुशी और आनंद है वो उसके पास नहीं है ।

 

अगले दिन, अमीर आदमी और उसके बेटे को तेज भूख लग रही थी इसलिए अमीर आदमी अपने बेटे को दोपहर के भोजन के लिए एक गरीब किसान के घर ले गया। उसके घर पर खाने के लिए बहुत कुछ नहीं था। किसान ने उन्हें प्याज के साथ रोटी का भोजन परोसा।

 

अमीर आदमी अपने बेटे को देख रहा था क्योंकि उसका बेटा प्याज और रोटी को बड़े चाव से खा रहा था उसे प्याज और रोटी बहुत ही स्वादिष्ट लग रहे थे

 

गरीब और अमीर की कहानी

 

अमीर आदमी अपने बेटे के कान में फुसफुसाया, “तुम इसे कैसे खा सकते हो ? तुम तो चांदी की प्लेट में फास्टफूड और कई तरह के व्यंजन खाते हो

 

इस पर अमीर आदमी के बेटे ने अपने पिता से कहा की पिता जी में अब जान चूका हूँ की खाने का असली स्वाद और रात को एक अच्छी नींद हमेशा मेहनत करने के बाद ही मिलती है हमारे पास आलिशान घर, स्विमिंग पुल और ठंडी हवा के लिए ऐसी है लेकिन गरीब को ईश्वर ने पूरी नदी ही दे दी है बच्चों को खेलने के लिए बड़े बड़े खेत और जंगल दे दिए है जो उनको असली आनंद के साथ साथ मजबूत भी बनाते है उनके पास खाने के लिए थोडा है इसलिए उस थोड़े खाने में भी बहुत स्वाद और मजा है

 

गरीब और अमीर की कहानी

 

अमीर आदमी के चेहरे पर एक मुस्कान थी क्योंकि अब उसका बेटा असली खुशियों को और मेहनत के फायदे जान चूका था

 

अमीर आदमी ने अपने पुत्र से कहा की हमारे पास सब कुछ है और हम अभी भी शिकायत करते हैं। उनके पास कुछ नहीं है फिर भी वे बहुत खुश हैं।

 

(यह भी पढ़े :- बच्चों की ज्ञानवर्धक कहानियां)

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ